मुस्लिम प्रिंसिपल फुकरान अली ने सरकारी स्कूल में बच्चों से जबरन कराई इस्लामिक मजहबी प्रार्थना – पीलीभीत, उत्तरप्रदेश

आपके शेयर के बिना यह खबर आगे नही फैलेगी । कृपया नीचे दिए बटन को दबाकर फेसबुक, व्हाट्सएप एवं ट्विटर पर एक बार शेयर जरूर करें । हमारा सहयोग कीजिये

उत्तर प्रदेश के एक सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों से सुबह के वक्त सरस्वती वंदना की बजाए इस्लाम की प्रार्थना कराए जाने का मामला उजागर हुआ है। पीलीभीत के सरकारी माध्यमिक स्कूल से इस मामले के उजागर होने के बाद यहां हड़कंप मच गया है। गंभीर बात यह है कि स्कूल में मदरसे की प्रार्थना करवाने का आरोप स्कूल के ही प्रिंसिपल पर लगा है। आरोप है कि प्रिंसिपल फुरकान अली ने छात्रों से जबरन यह प्रार्थना करवाई है।

हालांकि फुरकान अली ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों से इनकार कर दिया है। फुरकान अली ने कहा कि ‘उनके स्कूल में सरस्वती वंदना भी करवाई जाती है…चूंकि उनके स्कूल में 90 फीसदी बच्चे मुस्लिम समुदाय से आते हैं इसलिए उनके आग्रह पर इस्लाम वाली प्रार्थना भी करवाई जाती थी।’

loading...

इधर स्कूल में इस्लाम की प्रार्थना को लेकर विश्व हिंदू परिषद् और दूसरे कुछ अन्य हिंदू संगठनों ने एतराज जताते हुए जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव को ज्ञापन देकर प्रधानाध्यापक पर तत्काल सख्त कार्रवाई की मांग की है।

loading...

हिंदू सगंठनों का कहना है कि बेसिक शिक्षा विभाग के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में धर्म विशेष की प्रार्थना कराई जा रही है..जिसपर कार्रवाई होना बेहद जरुरी है।

इसे जरूर पढ़ें -   लव जिहाद : 2 बच्चों का बाप 'साहिल शेख' भगा ले गया 22 साल की लड़की को, कपडे की दुकान में फसाता था नई नई लड़कियों को - उज्जैन

इधर मामले की गंभीरता को देखते हुए जिले के डीएम ने फिलहाल स्कूल के प्रिंसिपल फुरकान अली को निलंबित कर दिया है। इस मामले में जांच के आदेश भी दिए गए हैं। स्कूल में धर्म विशेष की प्रार्थना को लेकर अभी बच्चों या उनके माता-पिता की तरफ से कुछ भी नहीं कहा गया है।

इसे जरूर पढ़ें -   सुरेश नाम बताकर आसिफ ने फसाया हिन्दू लड़की को, फिर अपने दोस्तों के साथ मिलकर किया सामूहिक बलात्कार - सीकर, राजस्थान

क्या है पूरा मामला
डीएम वैभव श्रीवास्तव ने बताया, बीसलपुर इकाई के विश्व हिंदू परिषद कार्यकर्ताओं (विहिप) ने बीसलपुर प्राथमिक विद्यालय को लेकर उपजिलाधिकारी सौरभ दुबे से शिकायत की थी। प्रिंसिपल फुरकान अली पर स्कूल में जबरन बच्चों से सरस्वती वंदना की जगह मदरसे की दुआ प्रार्थना कराने का आरोप लगाया था। साथ ही विहिप ने सरस्वती वंदना कराने की मांग की थी। मामले की जांच कराई गई। शिकायत सही पाए जाने पर प्रिंसिपल को सस्पेंड कर दिया गया है। साथ ही सभी स्कूलों में सरस्वती वंदना हो, इसके लिए बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए गए हैं।

बीएसए करा रहे जांच
बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेंद्र स्वरूप ने बताया, मामले की विभागीय जांच ब्लाक शिक्षा अधिकारी उपेंद्र कुमार को सौंपी गई है। करीब एक हफ्ते में जांच पूरी हो जाएगी। उसी रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इसे जरूर पढ़ें -   चंद्रयान के जवाब में पाकिस्तान ने छोड़ा भयंकर विमान, देखकर सबके होश उड़ गये - विडियो

सस्पेंड प्रिंसिपल का क्या है कहना
बता दें, प्रधानाध्यापक फुरकान अली स्कूल में बतौर प्रधानाचार्य तैनात थे। स्कूल में बच्चों के इस्लामिक प्रार्थना का वीडियो भी वायरल हो रहा है, जिसे खुद फुरकान ने बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट किया। उन्होंने कहा, कुछ लोग मामले को सांप्रदायिक रंग देना चाहते हैं। मेरे साथ अन्याय किया जा रहा है। स्कूल में मुस्लिम बच्चों की संख्या ज्यादा है। बच्चों के कहने पर ही मदरसे वाली प्रार्थना कराई। पिछले 8 साल से स्कूल में मदरसे वाली प्रार्थना ही कराई जा रही है।

Source – Jan Satta , Hindu Jan Jagruti, Asia News News Hindi


आपके शेयर के बिना यह खबर आगे नही फैलेगी । कृपया नीचे दिए बटन को दबाकर फेसबुक, व्हाट्सएप एवं ट्विटर पर एक बार शेयर जरूर करें । हमारा सहयोग कीजिये
loading...
Ramesh Jatav

About Ramesh Jatav

मैं पत्रकार टीम का एक सदस्य हूँ | आप मेरे बारे में About us पेज पर पढ़ सकते हैं | मुझसे संपर्क करने के लिए ईमेल करें - ramesh@pkmkb.news I am a journalist at PKMKB.news . You can read about me on 'About us' page. You can contact me at email - ramesh@pkmkb.news

View all posts by Ramesh Jatav →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *