जिहादी भीड़ ने हिन्दू युवक विकास यादव को पेड़ से बाँधकर पीट पीट कर किया अधमरा, मोहम्मद अशरफ, मोहम्मद इरफ़ान और मोहम्मद जावेद गिरफ्तार – विडियो वायरल – फतेहपुर, उत्तर प्रदेश

आपके शेयर के बिना यह खबर आगे नही फैलेगी । कृपया नीचे दिए बटन को दबाकर फेसबुक, व्हाट्सएप एवं ट्विटर पर एक बार शेयर जरूर करें । हमारा सहयोग कीजिये

उत्तर प्रदेश में फतेहपुर जिले के बिन्दकी नगर में मुसलामानों द्वारा एक हिन्दू को घेरकर बेहिसाब मारने की घटना सामने आई है। इस घटना को लेकर एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें मुसलमानों की एक भीड़ एक व्यक्ति को पेड़ से बाँधकर बुरी तरह मार रही है।

घटना तब शुरू हुई जब आटा खरीदने पहुँचा विकास यादव नाम के एक युवक की दुकान के मालिक शफी से किसी बात पर कहासुनी हो गई।

loading...

इसके बाद यह विवाद इतना बढ़ गया कि विकास को खून के भूखे मुसलमानों की एक उत्तेजित भीड़ ने पेड़ पर बाँधकर मारते-मारते लहूलुहान कर दिया।

loading...

हालाँकि इस पूरे मामले के दौरान विवाद करने वाले शफी को भी कुछ हल्की चोटें आईं मगर मुसलमानों की भीड़ ने विकास को पीट-पीट कर अधमरा कर दिया।

इसे जरूर पढ़ें -   ‘नारा-ए-तकबीर’ और ‘अल्लाहु अकबर’ के नार लागते हुये दुर्गा विसर्जन जुलूस पर जमकर की गयी पत्थरबाजी, मंदिर को भी नहीं छोड़ा

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक विकास यादव पर दुकानवाले ने चोरी का इल्ज़ाम लगाया था। इसके बाद दोनों के बीच बहस शुरू हुई तो दुकान मालिक शफी ने आसपास के लोगों को इकठ्ठा कर भीड़ लगा ली, जिसके बाद इस भीड़ ने पुलिस के दखल देने से पहले तकरीबन बीस मिनट तक विकास के साथ पूरी निर्दयता से मारपीट की।

हिंसक भीड़ से किसी तरह जब विकास को बचाकर पास के ही एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। मगर गंभीर चोटें आने की वजह से विकास के परिजनों ने उसे कानपुर के एक प्राइवेट अस्पताल में रखने का फैसला किया।

यहाँ पहले से ही मारपीट करने वाला दुकानदार शफी खुद भी इलाज के बहाने रुका टाँग पसारे पड़ा था। नतीजा यह हुआ कि विकास और उसके परिवार को इलाज में दिक्कतों का सामना करना पड़ता। शफी के परिजन किसी न किसी तरीके से विकास और उसके परिवार को परेशान कर रहे थे। मामला तब थोडा ठंडा पड़ा जब परिवार द्वारा पुलिस की मदद ली गई, इसके बाद विकास को अस्पताल में भर्ती कराया जा सका।

इसे जरूर पढ़ें -   हिन्दुओं से नफरत थी इसलिए गौशाला की 25 गायो को दे दिया गया जहर, आखिर किसने किया यह ? - बदायूं

गाँव में विकास के घर के आसपास लोग इकठ्ठा होने लगे जब वहाँ यह खबर फ़ैल गई कि विकास अब नहीं रहा। रिश्तेदारों ने जब किसी तरह यह समझाया कि विकास जीवित है, उसका इलाज कानपुर के एक अस्पताल में चल रहा है यह सुनकर कहीं भीड़ तितर-बितर हुई। इसके बाद से ही गाँव में तनाव का माहौल है।

विकास के साथ हुई इस घटना के करीब दो दिन बाद पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। वहीं दूसरी ओर स्थानीय लोगों के मुताबिक विवाद की शुरुआत विकास यादव ने की जिसके बाद दुकान वाले ने हल्ला मचा कर आसपास से लोगों को इकठ्ठा कर लिया।

इसे जरूर पढ़ें -   हिंदू नेता कमलेश तिवारी की दिन दहाड़े हत्या, पहले चाकू से गला रेत कर किया हलाल, फिर गोली मारी - लखनऊ

बुधवार रात FIR दर्ज होने के बाद ही पुलिस ने मामले में गिरफ़्तारी शुरू कर दी। फतेहपुर के एसपी रमेश ने बताया कि जल्द ही मामले से जुड़ी अन्य गिरफ्तारियाँ भी होंगी। बता दें कि यह एफआईआर विकास के भाई धीरेन्द्र यादव ने कुछ नामजद और कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज कराई थी।

अभी तक इस मामले में पुलिस ने मोहम्मद अशरफ, मोहम्मद इरफ़ान और मोहम्मद जावेद को गिरफ्तार कर लिया है, वहीं अन्य आरोपितों की तलाश जारी है।

Source – OP India


आपके शेयर के बिना यह खबर आगे नही फैलेगी । कृपया नीचे दिए बटन को दबाकर फेसबुक, व्हाट्सएप एवं ट्विटर पर एक बार शेयर जरूर करें । हमारा सहयोग कीजिये
loading...
News BOT

About News BOT

Above content is computer generated. This news has been posted by automatic BOT. We have provided the Source Name at the end of post. We are not responsible for authenticity of any content. Kindly check the source for original content. You can contact us by email - contact@pkmkb.news

View all posts by News BOT →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *